Publisher Theme
Art is not a luxury, but a necessity.

180 कार्याे के लिए 5 करोड़ 80 लाख रुपये जिला फतेहाबाद को दिए गए :सांसद

0

फतेहाबाद

जिला विकास समन्वय एवं निगरानी कमेटी के चैयरमेन व सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी की अध्यक्षता में मंगलवार को लघु सचिवालय स्थित बैठक कक्ष में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में उपायुक्त एवं सदस्य सचिव डॉ जेके आभीर, सीईओ डॉ जयवीर यादव, कमेटी के सदस्यगण व विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
सिरसा लोकसभा क्षेत्र के सांसद सरदार चरणजीत सिंह रोड़ी ने कहा कि सभी विभाग करवाए गए विकास कार्यों के उपयोगिता प्रमाण पत्र शीघ्र कार्यालय में भिजवाए ताकि नये कार्यों के लिए राशि जारी करवाई जा सके। उन्होंने बताया कि 16वीं लोकसभा में विकास कार्य हेतू 180 कार्याे के लिए 5 करोड़ 80 लाख रुपये जिला फतेहाबाद को दिए गए व राशि संबंधित विभागों को विकास कार्यो हेतू भेज दी गई है जिसमें से 5 करोड़ 60 लाख रूपये की राशि खर्च हो चुकी है तथा जिसमें से 155 विकास कार्यों का उपयोगिता प्रमाण पत्र अतिरिक्त उपायुक्त, सिरसा को भिजवा दिया गया है। उन्होंने बताया कि उक्त कार्याे के अतिरिक्त 1 करोड़ 95 लाख रूपये की राशि इसी माह प्राप्त हुई है जिसे संबंधित विभागों को वितरित करने की कार्यवाही अमल में लाई जा रही है।
सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी ने उपस्थित अधिकारियों से कहा कि वे अपने-अपने विभागों द्वारा करवाए जाने वाले विकास कार्यों के प्रस्ताव तुरंत भिजवाए ताकि उन पर कार्य शुरू किया जा सके। उन्होंने प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, फसल बीमा योजना, मनरेगा, दीनदयाल अंत्योदय योजना (एनआरएलएम), ग्रामीण कौशल्य योजना, ग्रामीण ज्योति योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री सडक़ योजना, कृषि सिंचाई योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना, स्वच्छ भारत मिशन, डिजिटल भारत भू-अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम, श्यामा प्रसाद मुखर्जी रर्बन मिशन, उज्जवल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, सर्व शिक्षा अभियान, समेकित बाल विकास योजना, मिड-डे-मिल स्कीम, विद्युत परियोजना, प्रधानमंत्री उज्जवल योजना बारे विस्तृत जानकारी ली और अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए कि वे सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाना सुनिश्चित करे।
इस अवसर पर उपायुक्त डॉ जेके आभीर ने कहा कि जिला में केंद्र व राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को बेहतर ढंग से क्रियांवित किया जा रहा है। योजनाओं का लाभ लाभार्थियों तक पहुंचे, इसके लिए प्रशासन द्वारा अथक प्रयास किए जा रहे है। उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जिला में सभी योजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए आपसी तालमेल और टीम वर्क के रूप में काम करे। उन्होंने कहा कि जिला के प्रशासनिक अधिकारी जनता की सेवा के लिए कार्य करें। जनहित सर्वोपरि है। उपायुक्त डॉ जेके आभीर ने कहा कि पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए जिला में 11 लाख से अधिक पेड़ पौधे लगाए गए है। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत गरीब परिवारों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार दिया जा रहा है। जिला में रखे गए लक्ष्य को पार करते हुए अधिक कार्य करवाए गए है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान में जिलावासियों ने बढ़चढ़ भाग लिया है जो बधाई के पात्र है। उन्होंने बताया कि जनता को सरकार द्वारा दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की सेवाएं उपलब्ध करवाई जा रही है। जगमग योजना का लाभ भी जिलावासियों को मिल रहा है जिससे ग्रामीणों को 18 से 24 घंटे तक बिजली मिलनी आरंभ हो गई है। स्वच्छ पेयजल का भी जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा पुख्ता प्रबंध किए गए है।
इस मौके पर कार्यकारी अधिकारी डॉ जयवीर यादव ने जिला विकास समन्वय एवं निगरानी कमेटी के चैयरमेन व सांसद का स्वागत किया और इन योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट सांसद के समक्ष प्रस्तुत की। उन्होंने कहा कि जिला में इन योजनाओं को लेकर निर्धारित लक्ष्य तयसमावधि में प्राप्त कर लिया जाएगा। विभाग द्वारा इन योजनाओं पर लक्ष्य के अनुरूप ही कार्य किया जा रहा है। बैठक में डीडीपीओ अनुभव मेहता, डीईओ दयानंद सिहाग, डीडीए डॉ बलवंत सहारण, डीडीएएच डॉ काशी राम, उप निदेशक डीआईसी गुरप्रताप सिंह, कार्यकारी अभियंता जगबीर सिंह, एनआर राणा, सीएमओ डॉ मनीष बंसल, ईओ अमन ढांडा, बीडीपीओ सोमबीर कादियान, रविंद्र दलाल, नरेन्द्र सिंह, परियोजना अधिकारी नरेश कुहाड़, गुरदीप सिंह, कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास उषा ग्रोवर, समाज कल्याण अधिकारी इंद्रा यादव सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण मौजूद थे।
रिपोर्ट- ( सुनील कुमार )

Leave A Reply

Your email address will not be published.