Publisher Theme
Art is not a luxury, but a necessity.

About us

प्रिय पाठकों,

नमस्ते!

कई लोगों में यह उत्कंठा होगी कि सरहुल क्या है ? दोस्तों…झारखंडवासियों के हृदय में रची बसी प्रकृति के प्रति आस्था और प्रेम का प्रतीक है सरहुल। सरहुल जीवनदायिनी प्रकृति का श्रद्धापूर्वक नमन करने और आस्था व्यक्त करने का अनूठा पर्व है। बसंत ऋतु में साल के वृक्ष पर जब फूल खिलते है तो लोग वृक्ष की पूजा कर अपनी श्रद्धा व्यक्त करते है। सुख शांति की कामना करते हैं। झारखंड की संस्कृति और परंपराओं का समावेश लिए सरहुल पर्व सभी को मिलजुल कर प्रेम और उत्साह से जीवन जीने का संदेश देता है।

आपका सरहुल न्यूज…

हमारा प्रयास है कि सरहुल न्यूज के माध्यम से हम आप तक सामाजिक सरोकार से जुड़ी खबर पहुंचाते रहें। खबर जो हमारे देश और समाज के उन्नति में कारगर हों। खबर जो आम अवाम को आगे बढ़ने और चुनौतियों को पार करने में सहायक हो। खबर जो समाज में प्रेम और सहयोग की भावना को प्रबल करें। हम और आप मिलकर एक ऐसा सशक्त और निष्पक्ष माध्यम तैयार करें जिससे समाज के हासिये पर पड़े व्यक्ति की भी आवाज उतनी बुलंद हो कि शासन तंत्र भी सुनने पर मजबूर हो। हर व्यक्ति को उसका पूरा अधिकार मिले। कानून का निष्पक्षता से पालन हो सके। समाज को भ्रष्टाचार मुक्त किया जा सके। हमारा संकल्प है कि सच और निष्पक्षता से खबरें आप तक पहुंचायेंगे। खबरों का आंकलन कर आप हमें अपने सुझाव और हमारी कमियों से भी अवगत कराकर हमें आगे बढ़ने में संबल प्रदान करे।

सरहुल न्यूज…की शुरूआत झारखंड से हुई और आज कई राज्यों में लोग इससे जुड़ने लगे हैं। जिससे सरहुल न्यूज टीम में निरंतर उर्जा का संचार हो रहा है। इसके लिए आप सभी पाठकों का सहृदय धन्यवाद। अपना विश्वास और स्नेह ऐसे ही बनाये रखे।

 

धन्यवाद !

सरहुल न्यूज टीम